Toll Free Number : 18005722266
"यत्र नार्यस्तु पूज्यन्ते रमन्ते तत्र देवता:" पूर्ण सुरक्षित आवासीय महिला विश्वविद्यालय
Jayoti Vidyapeeth Women’s UniversitY (JVWU)
government of rajasthan established
Through ACT No. 17 of 2008 as per UGC ACT 1956

NewsBack

ज्योति विद्यापीठ महिला विश्वविद्यालय, जयपुर द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों की १२ वी कक्षाओं में अध्यनरत 350 छात्राओं को ज्योति विद्यापीठ महिला विश्वविद्यालय शैक्षणिक भ्रमण 2020'' के दौरान दिया गया करियर परामर्श !!

दिनांक 10.01.2020 के आगाज के साथ, ज्योति विद्यापीठ महिला विश्वविद्यालय ने अपने नये शैक्षणिक सत्र-2020-21 में प्रवेश के उपलक्ष्य में ''विश्वविद्यालय शैक्षणिक भ्रमण योजना 2020'' की शुरुआत की । इस कार्यक्रम का विधिवत् उद्घाटन विश्वविद्यालय की चेयरपर्सन माननीया जे.वी.एन. विदुषी गर्ग जी ने प्रो. रेखागोविल सभागार में मां सरस्वती की प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्ज्वलित कर किया। इसके उपरांत विश्वविद्यालय की प्रेसीडेंट ने माननीया चेयरपर्सन मैडम को पुष्प गुच्छ प्रदान कर स्वागत किया।

ज्योति विद्यापीठ महिला विश्वविद्यालय अपने आस पास के ग्रामीण क्षेत्रों में उच्च शिक्षा की महत्वता को ध्यान में रखते हुए स्कूली छात्राओं को उच्च शिक्षा के बारे में निःशुल्क करियर कॉउंसलिंग सेमिनार का आयोजन पिछले कई वर्षो से करता आ रहा हैं और आज इसी श्रृंखला की चौथी कड़ी को आगे बढ़ाते हुए ''विश्वविद्यालय शैक्षणिक भ्रमण योजना 2020'' का आयोजन किया गया । स्वागत क्रम के बाद विश्वविद्यालय के संस्थापक और सलाहकार माननीय जे.वी.एन. डॉ.पंकज गर्ग जी ने सभागार में उपस्थित करीब 350 छात्राओं की करियर काउंसलिंग की। इस दौरान उन्होंने छात्राओ को अपने विश्वविद्यालय के सभी पाठ्यक्रमों की जानकारी देते हुए और छात्राओं की पृष्टभूमि को ध्यान में रखते हुए इंटीग्रेटेड डिग्रियों और नये शुरु हुए ग्रेजुएशन काम्पिटेटिव पाठ्यक्रम और विभिन्न प्रकार के व्यवसायीक , मेडिकल , टेक्निकल और इंटीग्रेटेड डिग्रियो से होने वाले लाभ और करियर विकल्पों के बारे में स्कूली छात्राओं को अवगत कराया। स्कूली छात्राओं द्वारा प्रशासनिक सेवाओं, अध्यापिका, वकालत, पत्रकारिता, साइंटिस्ट, चार्टड अकाउंटेंड (सी।ए।) के साथ-साथ खेल-कूद में भी करियर बनाने के लिए सवाल पूछे गए तो वहीं विश्वविद्यालय के संस्थापक और सलाहकार माननीय जे.वी.एन. डॉ. पंकज गर्ग जी इन सभी से सम्बन्धित प्रश्नों के उत्तर बहुत ही रोचक तरीके से दिये।उन्होंने छात्राओं को सम्भोधित करते हुए कहा कि उन्हें ऊंचे सपने देखने चाहिए और उन्हें साकार करने के लिए निरंतर प्रयास करते रहना चाहिए ताकि वे अपने माता पिता का नाम रौशन कर सकें। उन्होंने छात्राओं के करियर सम्बन्धी प्रश्नों के उत्तर देते हुए एक डिसिजन मेकर बनने को भी कहा।
इस कार्यक्रम में विश्वविद्यालय द्वारा गोद लिए गांवों के साथ साथ कई अन्य आस पास के ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित कुल १४ स्कूलों - नवज्योति सीनियर सेकेंडरी स्कूल, बगरू, गवर्नमेंट सीनियर सेकेंडरी स्कूल - मौजमाबाद , जनता पब्लिक स्कूल - मीरापुरा, स्टैप नेक्स्ट अकादमी - केशरीसिंघपुरा, रूरल पब्लिक स्कूल - दूदू एम जी इंटरनेशनल स्कूल - बगरू , राजस्थली स्कूल- बगरू , माँ सरस्वती सीनियर सेकेंडरी स्कूल- महँला, अलिएन सीनियर सेकेंडरी स्कूल - महँला, पवन पब्लिक सीनियर सेकेंडरी स्कूल- मौजमाबाद, डायमंड सीनियर सेकेंडरी स्कूल- आसलपुर , आदित्य विद्यापीठ सीनियर सेकेंडरी स्कूल- महँला, विजेंदर बाल भारती की स्कूली छात्राओं ने विश्वविद्यालय का भ्रमण किया और सभी पाठ्यक्रमों की जानकारी ली । संवादात्मक सत्र के बाद विश्वविद्यालय की माननीया चेयरपर्सन, जे।वी।एन। विदुषी गर्ग जी ने सभी स्कूलों से पधारे शिक्षकगणों को मोमेंटो भेंट स्वरुप प्रदान दिया और उनके स्कूलों में अध्यनरत छात्राओं के उज्जवल भविष्य की कामना की। तत्पश्चात सभी स्कूली छात्राओं को विश्वविद्यालय के विभिन्न संकायों में भ्रमण कराया गया। इस भ्रमण के दौरान हायर सेकंडरी स्कूल की छात्राओं के साथ-साथ उनके साथ आए अध्यापक-अध्यापिकाओं ने भी ज्ञानवर्धन हेतु पाठ्यक्रमों से सम्बन्धित पूछताछ की। जहां छात्राओं ने अपने भ्रमण के दौरान इस शैक्षणिक भ्रमण को उपयोगी और ज्ञानवर्धक बताते हुए विश्वविद्यालय में आगामी सत्र में प्रवेश लेने की इच्छा भी जाहिर की।https://www.facebook.com/DrPanckajGarg/posts/2833115653394478

TOP