Toll Free Number : 18005722266
"यत्र नार्यस्तु पूज्यन्ते रमन्ते तत्र देवता:"
Jayoti Vidyapeeth Women’s UniversitY (JVWU)
Established by Govt. of Rajasthan

NewsBack

ज्योति विद्यापीठ महिला विश्वविद्यालय ने 10 नये स्टार्ट अप्स का किया शुभारम्भ

ज्योति विद्यापीठ महिला विश्वविद्यालय ने 10 नये स्टार्ट अप्स का किया शुभारम्भ #MHRD , #NCTE#Education #GovtofRajasthan

ज्योति विद्यापीठ महिला विश्वविद्यालय ने नवाचार की ओर एक और कदम बढ़ा दिया है विश्वविद्यालय की ओर से 10 विषयों को लेकर स्टार्ट अप्स आरम्भ किये गये हैं जो केवल आर्थिक दृष्टि से ही नहीं वरन् मानवीय भावनाओं और पर्यावरण संरक्षण के महत्व को दर्शाते हैं। विश्वविद्यालय की चेयरपर्सन माननीया जे।वी।एन। विदुषी गर्ग जी ने विश्वविद्यालय में संचालित होने वाले 10 स्टार्टअप्स  का विधिवत् फीता काटकर उद्घाटन किया। विश्वविद्यालय की चेयरपर्सन माननीया जे।वी।एन। विदुषी गर्ग जी ने सर्वप्रथम एकेडमिक ब्लॉक में नवगगठित स्टार्ट अप सेंटर का उद्घटन किया तत्पश्चात् सम्बन्धित छात्राओं का तिलक करते हुए उन्हें अपने से सम्बन्धित स्टार्ट अप्स की जिम्मेदारी सौंपी गई। इसी क्रम में चेयरपर्सन माननीया जे।वी।एन। विदुषी गर्ग जी ने इन स्टार्ट अप्स से सम्बन्धित कार्यस्थलों का उद्घाटन किया।
विश्वविद्यालय के माननीय फाउंडर एंड एडवाइजर डॉ पंकज गर्ग द्वारा आधुनिक युग की अवधारणा और मह्त्वकांक्षाओ को ध्यान में रखते हुए सामाजिकहित में किये गए प्रयासों को मुहर्तरूप आज विश्वविद्यालय द्वारा शुरू किये गए १० स्टार्ट अप्स - O2 वापस, ई-पुन्य, मां- रसोई, पुनर्जन्म, ई-डाकिया, युनिवर्सिटी महिला समूह ग्रामोद्योग, कुरिकुलम आउटलेट, जेवी केयर, डा गर्ग डिजिटल हर्बल गार्डन और ई कन्फेशन और मीडियेशन द्वारा दिया गया। इन सभी स्टार्ट अप्स के बहुत ही अनूठे और वर्तमान में प्रासंगिक लक्ष्य भी रखे गये हैं ताकि यहां की छात्राओं का कौशल विकास हो सके। इनमें मुख्य रूप से O2 वापस के तहत पर्यावरण संरक्षण हेतु समाज को अधिक से अधिक वृक्षारोपण हेतु प्रेरित करना, ई-पुण्य के अन्तर्गत भावनाओं को लेकर पुण्य कार्य जिसमें खुशी के तत्व को महत्व दिया जाएगा, ई-डाकिया के तहत हर किसी को सूचनाएं प्रदान करने हेतु मीडिया के विभिन्न अंगों का संचालन विश्वविद्यालय करेगा इनमें प्रिन्ट मीडिया के लिए ज्योति मुहिम पत्रिका, इलैक्टॉनिक के लिए जेवी टीवी और सामुदायिक रेडियो- ज्योति वाणी के तहत आस-पास के ग्रामों तक सूचना से समृद्ध करने का लक्ष्य तय है, वहीं मां रसोई नामक स्टार्ट अप के माध्यम से भोजन पकाने का परम्परागत और स्नेहपूर्ण तरीक अपनाया जायेगा और इसके अलवा युनिवर्सिटी महिला समूह ग्रामोद्योग के द्वारा समाजहित में आने वाले परम्परागत तौर तरीकों को सहेजने और उनके प्रचार-प्रसार हेतु विश्वविद्यालय की छात्राओं द्वारा समय-समय पर नवाचारों के द्रवारा कार्य किये जाएंगे।
इन स्टार्ट अप्स के द्वारा जहां छात्राओं के कौशल विकास में वृद्धि होगी साथ ही साथ छात्राओं को अर्न वाइल लर्न (Earn while Learn) थीम पर स्टाइपेंड देने की व्यवस्था विश्वविद्यालय के द्वारा सुनिश्चित की गई है। जिससे यहां की छात्रा भविष्य में और भी सशक्त बनकर उभरें और विश्वविद्यालय और देश का नाम रोशन करें।
इससे के अतिरिक्त विभिन्न स्टार्ट अप्स को कुशलता और दायित्व के साथ पूर्ण करने के लिए चेयरपर्सन माननीया जे।वी।एन। विदुषी गर्ग जी और छात्राओं के बीच विभिन्न फैकल्टीज के संकाय अध्यक्षों के सम्मुख अनुबन्धों पर हस्ताक्षर किये गये।

TOP